Homeबाँकासक्षमता परीक्षा में फंसे 46 फर्जी शिक्षक

सक्षमता परीक्षा में फंसे 46 फर्जी शिक्षक

Bihar: बांका, सक्षमता परीक्षा देकर राज्यकर्मी बनने का दावा फर्जी नियोजित शिक्षकों को पड़ गया उल्टा। जिला में 46 नियोजित शिक्षकों की गर्दन फंस गई है। उन्हें नौकरी गंवाने के साथ जेल की हवा भी खानी पड़ सकती है। इतना ही नहीं उन्हें अब वेतन मद में उठाई गई राशि भी जमा करनी पड़ सकती है। निगरानी ब्यूरो की जांच से अबतक बचकर निकले इन शिक्षकों पर सक्षमता परीक्षा का जाल भारी पड़ गया है।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

NS news

दरसल सक्षमता परीक्षा का फार्म भरने में शिक्षकों ने अपने टीईटी और एसटीईटी प्रमाण पत्र का नंबर दर्ज किया। फार्म भरने के बाद शिक्षा विभाग को पता जला कि 800 से अधिक फार्म भरने वाले नियोजित शिक्षक ऐसे हैं, जिनके प्रमाण पत्र नंबर पर कोई दूसरा व्यक्ति भी नौकरी कर रहा है। इस सूची में बांका जिले का स्थान सबसे ऊपर है। इसमें 56 डुप्लीकेट शिक्षकों का डाटा चिह्नित हो गया है। डीपीओ स्थापना कार्यालय अब इस पर आगे काम कर रहा है। 7 मार्च से ही इन सभी शिक्षकों का पटना में सत्यापन शुरु कर दिया गया है। 21 मार्च तक इसका सत्यापन पटना में ही पूरा कर लिया जाना है।

 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments