HomeपटनाPM मोदी और BJP के नेताओं को जेल भेजने वाले मिशा के...

PM मोदी और BJP के नेताओं को जेल भेजने वाले मिशा के बयान पर आया राजनीति भूचाल

Bihar: लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर सभी दलों के प्रत्याशी अपने-अपने क्षेत्र में लगातार जनसंपर्क अभियान में जुटे हुए हैं और अपने प्रतिद्वंदियों पर जमकर निशान साध रहे हैं इसी क्रम में 8 अप्रैल दिन सोमवार को राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की बड़ी बेटी मिशा भारती जो की पाटलिपुत्र से लोकसभा चुनाव की राजनीति कैंडिडेट है और मसौढ़ी में जनसंपर्क अभियान चला रही थी, एक बड़ा बयान दे डाला है।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

मीडिया से बातचीत करते हुए मिशा भारती ने पीएम नरेंद्र मोदी सहित भाजपा के तमाम नेताओं पर जमकर हमला बोला गया और कहा गया पीएम नरेंद्र मोदी दूसरों पर भ्रष्टाचार और परिवारवाद का आरोप लगाते हैं तो जमुई के नवादा में किसका प्रचार करने आए थे, मिशा भारती ने आगे कहा इलेक्टरल बाॅड के जरिए जो घोटाला हुआ है उसके ऊपर तो कभी बात नहीं करते यदि लोकसभा चुनाव के बाद हमारी सरकार I.N.D.I.A गठबंधन की बनती है तो प्रधानमंत्री सहित भाजपा की कई बड़े नेता और मंत्री जल जाएंगे।

मिशा भारती के इस बयान के बाद बिहार के राजनीति में भूचाल आ गया है बिहार के उपमुख्यमंत्री विजय सिन्हा ने मिशा भारती के बयान पर कहा है कि डरे सामने लोगों की आवाज है, यह वही लोग हैं जो पहले चपरासी क्वार्टर में रहते थे, आज महलों के राजा बने हुए हैं, माॅल से लेकर फार्म हाउस तक पहुंच गए, हिसाब देना होगा कौन जेल में है और कौन बेल पर है, बस चुनाव के बाद पता चल जाएगा।

वहीं भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता अजय आलोक के द्वारा मिशा भारती के बयान पर कहा गया बेशर्मी की पराकाष्ठा हो गई है, आप सभी लोग घमंडिया वाले इतने बेशर्म हो गए हो की शर्म भी शर्माने लगी है, मुंह पर ही झूठ बोलना, इस देश में 10 वर्षों में क्या बदलाव आया आपको पता है युवाओं के भविष्य में क्या बदलाव आया है आपको पता है, ईपीएफओ का डाटा जरा उठा कर देखिए ईपीएफओ के बारे में आपको पता भी नहीं है, क्या होता है, जो नौकरी करता है वही ईपीएफओ में रजिस्टर्ड होता है, पिछले 10 वर्षों में ईपीएफओ 12 करोड़ से बढ़कर 26 करोड़ पहुंच चुका है, मतलब कुछ भी बोल देना, अपने भ्रष्टाचार की बात करो 29 साल की उम्र में 52 संपत्तियां कहां से आ गई, क्यों बेल पर हो, ईडी क्यों परेशान कर रही है सहित कई बातें कही गई।

वहीं मिशा भारती के बयान पर चिराग पासवान के द्वारा कहा गया, यह बदले की भावना है, अगर आपके पास कोई आरोप है तो आप आप लगाइए 2004 का समय ऐसा था, यूपीए की सरकार में एक के बाद एक घोटाला सामने आ रहे थे, आज जितनी भी कार्रवाई हुई है, उन घोटाले के आधार पर हुई है, ये सरकार ऐसी है जिसमें अभी तक कोई घोटाला नहीं हुआ है तो इस बयान में बदले की भावना ही दिखती है जो सरासर गलत है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments