Homeचैनपुररात्रि कार्यक्रम में DM पहुंचे बौरई ग्रामीणों की शिकायत सुन हुए आश्चर्यचकित

रात्रि कार्यक्रम में DM पहुंचे बौरई ग्रामीणों की शिकायत सुन हुए आश्चर्यचकित

Bihar: कैमूर जिले के चैनपुर प्रखंड क्षेत्र के ग्राम बौरई में गुरुवार की रात कैमूर DM सावन कुमार के द्वारा रात्रि कार्यक्रम के तहत ग्रामीणों के साथ बैठक करते हुए जन समस्याओं को सुना गया एवं उस पर चर्चा हुई और निदान के लिए आश्वासन दिया गया है।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

NAYESUBAH NAYESUBAH

जानकारी देते हुए चैनपुर बीडीओ चंद्रभूषण गुप्ता ने बताया जिला पदाधिकारी सावन कुमार के रात्रि कार्यक्रम में बौरई के वार्ड संख्या 6, 7 एवं 8 का भ्रमण किया गया जहां जीविका दीदीयों से मुलाकात के बाद स्थानीय ग्रामीणों के साथ बैठक हुई जिसमें किन-किन लोगों का राशन कार्ड नहीं बना है, राशन कार्ड बनने में क्या समस्याएं आ रही है जानकारी ली गई, वैसी महिलाएं जो 60 वर्ष से ऊपर की आयु होने के बाद भी वृद्धा पेंशन प्राप्त नहीं कर रही हैं उन्हें वृद्धा पेंशन प्राप्त करने में क्या दिक्कत आ रही है, इससे जुड़ी जानकारी ली गई इसके साथ ही मुख्यमंत्री आवास का लक्ष्य जो की सभी पंचायत में पांच-पांच निर्धारित है और प्रथम किस्त की राशि 45 हजार लाभार्थियों के खाते में भेज दी गई है, उनके द्वारा कहां तक कार्य करवाया गया है, निरीक्षण किया गया, इसके साथ ही नाली गली आदि से भी जुड़ी जानकारियां भी ली गई।

वही ग्राम बौरई के कुछ ग्रामीणों ने कैमूर DM को जानकारी देते हुए बताया जगदंहवा डैम बनने के बाद ग्राम बौरई का जलस्तर काफी ऊपर हो गया है, जब भी जगदंबा डैम में पानी रहता है उस समय गांव का जलस्तर काफी ऊपर होता है कुएं से पानी अपने आप बहता रहता है खेतों में पानी जमा रहने के कारण यहां के किसान सिर्फ एक ही फसल प्राप्त कर पाते हैं, गांव वालों के द्वारा गुहार लगाई गई कुछ ऐसा उपाय किया जाए ताकि किसानों के खेतों में पानी का जमाव ना हो और वह दोनों फसल प्राप्त कर सकें।

ग्रामीणों के इस शिकायत पर कैमूर DM काफी आश्चर्यचकित हुए की कैमूर के कई पंचायतों में जलस्तर काफी नीचे चला गया है पानी की समस्याएं गर्मी में उत्पन्न रहती है लेकिन जगदंहवा डैम बगल में रहने के कारण ग्राम बौरई में जलस्तर काफी ऊपर है और अपने आप कुएं का पानी बहता रहता है हालांकि ग्रामीणों के द्वारा बताई गई बात की पुष्टि के लिए कैमूर DM द्वारा खुद गांव में मौजूद कुएं आदि की जांच की गई खेतों में जमें पानी को देखा गया।

चैनपुर बीडीओ चंद्रभूषण गुप्ता नू आगे बताया गया वैसे ग्रामीण जिनका आयुष्मान कार्ड अब तक नहीं बन पाया है, और उनके पास राशन कार्ड है उन लोगों के लिए एक बेहतर सुविधा सरकार के माध्यम से उपलब्ध करवाई गई हैं, 2 मार्च से 13 मार्च तक सभी जन वितरण प्रणाली केंद्रो पर आयुष्मान कार्ड बनाए जाएंगे सभी ग्रामीण जिनका अब तक आयुष्मान कार्ड नहीं बन सका है वह वहां पहुंचकर अपना आयुष्मान कार्ड बनवा सकते हैं।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments