Homeनवादामुखिया हत्याकांड के 3 और अपराधी को पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त...

मुखिया हत्याकांड के 3 और अपराधी को पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त आर्म्स के साथ किया गिरफ्तार

Bihar: नवादा जिले के पकरीबरावां प्रखण्ड की बुधौली पंचायत के मुखिया पप्पू मांझी की हत्याकांड में शामिल 3 अन्य अपराधियों को पुलिस के द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है। इस प्रकार मुखिया पप्पू मांझी की हत्या में शामिल 5 लोग  पुलिस के हत्थे चढ़ चुके हैं। पकरीबरावां थाना परिसर में आयोजित पीसी में एसडीपीओ महेश चौधरी ने कांड का खुलासा करते हुए कहा कि 13 जून की रात को पंचायत के मुखिया पप्पू मांझी की इंटर विद्यालय बुधौली के परिसर में सोए अवस्था में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

NS News

जिसके बाद वरीय पदाधिकारी के आदेशानुसार एसडीपीओ महेश चौधरी एवं थानाध्यक्ष अजय कुमार के निर्देशन में एक एसआईटी टीम गठित की गई। अनुसंधान के क्रम में यह बात सामने आई कि बुधौली पंचायत के मुखिया पप्पू मांझी को बुधौली गांव के उग्रीन प्रसाद के पुत्र अमरेन्द्र कुमार एवं दिऔरा गांव के रामानंद शर्मा के पुत्र मनीष सिंह ने पंचायत चुनाव में प्रत्याशी बनाया और जिताकर मुखिया बनाया। मुखिया बनने के बाद वर्ष 2019 से अब तक मुखिया केवल सरकारी योजना का राशि निकालने के लिए अंगूठा/ हस्ताक्षर लगाता रहा और सभी पैसा अमरेन्द्र एवं मनीष सिंह लेता रहा।

पुलिस के अनुसार अनुसंधान में सामने आया कि एक- दो माह से मुखिया योजना मद की निकासी के लिए विपत्र पर हस्ताक्षर नहीं कर रहे थे। यहां तक कि गांव के इंटर विद्यालय में बाउंड्री वाल का निर्माण करा रहे अमरेन्द्र एवं मनीष को काम करने से रोक दिया था। इधर, पंचायत का उप मुखिया भलुआ गांव निवासी अनुज कुमार पांडेय उर्फ छोटू पांडेय से अमरेन्द्र एवं मनीष ने संपर्क किया। मुखिया बनाने की शर्त पर छोटू पांडेय को तैयार किया। दोनों ने कहा कि मुखिया बनने के लिए वर्तमान मुखिया को रास्ते से हटाना होगा। जिसके बाद छोटू पांडेय मुखिया को रास्ते से हटाने को तैयार हो गया।

 

 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments