Homeभभुआबैंक ऑफ़ इंडिया में लूट के आरोपी सहित दो गिरफ्तार

बैंक ऑफ़ इंडिया में लूट के आरोपी सहित दो गिरफ्तार

Bihar: कैमूर जिले के टॉप 10 अपराधियों की सूची में शामिल दो अपराधियों को पकड़ने में कैमूर पुलिस को सफलता मिली है गिरफ्तार दोनों अभियुक्त लूट कांड में शामिल है जो लंबे समय से फरार थे।
मामले को लेकर कैमूर एसपी ललित मोहन शर्मा के द्वारा शनिवार को प्रेस वार्ता करते हुए गिरफ्तार आरोपियों से संबंधित जानकारी देते हुए कहा कि कैमूर पुलिस कि यह बड़ी उपलब्धि है।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

NAYESUBAH

प्रथम गिरफ्तारी बैंक ऑफ़ इंडिया में हुई 2016 में डकैती कांड से जुड़ी हुई है, गिरफ्तार आरोपी कुमरेशन है जो ग्राम गांधीनगर थाना रामजीनगर जिला तिरुचिरापल्ली तमिलनाडु का निवासी है, और त्रिची गैंग का एक कुख्यात अपराधी है, मोहनिया स्थित बैंक ऑफ़ इंडिया में डकैती कांड का मुख्य आरोपी भी है, साथ ही कैमूर पुलिस के टॉप 10 सूची में भी शामिल है।

कैमूर पुलिस के द्वारा कांड का उद्भेदन करते हुए 47 लाख रुपया बरामद किया गया था, मामले में एक अपराधी सुरेश कुमार पिता काशी उर्फ बालकृष्णन ग्राम कुनगानुर, श्रीरंगमथलुख, थाना सोमरापीरी जिला तिरुचिरापल्ली, तमिलनाडु को गिरफ्तार का जेल भेजा गया था, छह लोग फरार चल रहे थे उसी कांड में कुमरेशन की गिरफ्तारी हुई है।

पूछताछ के दौरान गिरफ्तार आरोपी के द्वारा बताया गया है तमिलनाडु में इन लोगों का त्रिची गैंग के नाम से एक गिरोह चलाया जाता है जिसमें 100 से 200 अपराधी है जो पूरे देश में घूम-घूम कर अपराध करते हैं और इसी क्रम में कोलकाता में अपराध करने के बाद यह लोग भभुआ रोड स्टेशन पहुंचे थे और वहां रहते हुए घटना को अंजाम दिया था, इसका गैंग कई राज्यों में फैला हुआ हैं मामले में अन्य और पूछताछ की जा रही है।

इसके साथ ही कैमूर पुलिस के टॉप 10 अपराधियों की सूची में लूटकांड के एक और मुख्य अभियुक्त बसंत बिंद पिता रामदेव बिंद जो कि ग्राम वरुण थाना भभुआ जिला कैमूर के निवासी हैं जो 20 वर्षों से फरार चल रहा था जिनकी गिरफ्तारी के लिए हाल ही में हैदराबाद में पुलिस के द्वारा छापेमारी की गई थी, मगर वहां कामयाबी नहीं मिली गुप्त सूचना के आधार पर भभुआ स्टेशन रोड से गिरफ्तार किया गया है, पूछताछ के बाद उन्हें जेल भेजा जाएगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments