Homeमोहनियाप्रेम प्रसंग में हत्या मामले का पुलिस ने 24 घंटे के अंदर...

प्रेम प्रसंग में हत्या मामले का पुलिस ने 24 घंटे के अंदर किया उद्वेदन

Bihar: कैमूर जिले के मोहनियां थाना क्षेत्र अंतर्गत नरौरा ग्राम निवासी अनिल कुमार गोस्वामी के हत्या मामले का पुलिस ने 24 घंटे के अंदर किया उद्वेदन। प्रेम प्रसंग में हुई हत्या की घटना को तीन सगी बहनों, एक प्रेमी ने अपने दोस्त के साथ मिलकर अंजाम दिया था। तीनो सगी बहनों व एक प्रेमी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जिन्हें शुक्रवार को भभुआ जेल भेज दिया गया है। मामले से सम्बंधित जानकारी देते हुए मोहनियां के डीएसपी दिलीप कुमार ने बताया कि नरौरा ग्राम निवासी विजय बहादुर गोस्वामी ने 29 मई को थाना में आवेदन दिया था। जिसमें 28 मई से अपने पुत्र अनिल कुमार गोस्वामी के गायब होने की बात कही गयी थी।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

NS News

आवेदक द्वारा नरौरा ग्राम निवासी संजय साह की पुत्री व परिवार के अन्य लोगों पर हत्या का आरोप लगाया गया था। इस संबंध में मोहनियां थाना में तत्काल प्राथमिकी दर्ज करते हुए कांड के उद्भेदन के लिए एक विशेष टीम का गठन किया गया। जिसमें थानाध्यक्ष प्रियेश प्रियदर्शी, पुअनि चंदन कुमार, राजू कुमार, प्रभात कुमार, पुअनि पूनम कुमारी व आरती कुमारी शामिल थे। टीम द्वारा त्वरित कार्रवाई करते हुए अनिल कुमार के दोस्तों से पूछताछ शुरू की गई। तकनीकी अनुसंधान,साक्ष्य संकलन एवं पूछताछ के दौरान पता चला कि यह प्रेम प्रसंग का मामला है। जिसमें मृतक की पूर्व प्रेमिका ज्योति कुमारी, उसकी बहन खुशबू कुमारी व नेहा कुमारी, नेहा के प्रेमी श्याम नारायण सिंह एवं उसके दोस्त गोपाल सिंह की संलिप्तता है।

पुलिस ने नरौरा निवासी संजय साह की पुत्रियों ज्योति कुमारी, नेहा और खुशबू कुमारी तथा राधेश्याम सिंह के पुत्र श्याम नारायण सिंह को गिरफ्तार कर थाना लाया गया। सख्ती से पूछताछ करने के बाद इन लोगों द्वारा बताया गया कि अनिल कुमार गोस्वामी की हत्या की गई है। हत्या के बाद श्याम नारायण सिंह एवं गोपाल बाइक से शव को नरौरा गांव से करीब दो किलोमीटर दूर ले जाकर नहर के किनारे मिट्टी से ढंक दिए थे। अभियुकों की निशानदेही पर अनिल कुमार गोस्वामी का शव नहर किनारे से बरामद कर लिया गया। मृतक का मोबाइल तथा घटना में प्रयुक्त मोटरसाइकिल को श्याम नारायण सिंह के घर से बरामद किया गया। इस घटना में शामिल अन्य अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। सभी अभियुक्तों को शुक्रवार को भभुआ जेल भेज दिया गया। 24 घंटे में कांड का उद्भेदन करने वाली टीम से सभी सदस्यों को पुरस्कृत किया जाएगा।

 

 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments