Homeचैनपुरप्यार में धोखा, हत्या के बाद फेंके गए शव मामले में दो...

प्यार में धोखा, हत्या के बाद फेंके गए शव मामले में दो और गिरफ्तार

Bihar: कैमूर जिले के चैनपुर थाना क्षेत्र के केवा नहर ग्राम बौरई के समीप एक अज्ञात महिला के शव बरामदगी मामले में फरार चल रहे दो आरोपितों को चैनपुर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया गया है, जिसकी जानकारी प्रेसवार्ता के दौरान गुरुवार की दोपहर भभुआ एसडीपीओ शिव शंकर कुमार ने दिया।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

भभुआ एसडीपीओ ने प्रेसवार्ता के दौरान बताया 27 सितंबर 2023 की रात केवा नहर ग्राम बौरई के पास एक अज्ञात महिला का शव पानी से बरामद किया गया था, जिसकी उम्र लगभग 20 वर्ष थी, अनुसंधान के क्रम में पाया गया कि डब्लू पासवान पिता रामाकांत पासवान अपने कुछ सहयोगियों के साथ चंदा कुमारी पिता कृष्णा पासवान ग्राम विसीकला, थाना दिनारा, जिला रोहतास जो की डब्लू पासवान की पत्नी थी, गला घोटकर हत्या करने के बाद शव को साक्ष्य छुपाने को उद्देश्य से नहर में फेंक दिया गया था।

इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए 2 अक्टूबर 2023 की तिथि को डब्लू पासवान पिता रामाकांत पासवान एवं रामाकांत पासवान पिता स्वर्गीय रामव्रत पासवान दोनों ग्राम विसीकला, थाना दिनारा, जिला रोहतास को गिरफ्तार कर लिया गया।
हत्या के बाद केवा नहर में शव फेंकने में सहयोग करने वाले पूर्णवासी पासवान पिता रामाकांत पासवान एवं विकास कुमार पिता ललन यादव फरार चल रहे थे, जिनकी गिरफ्तारी के लिए थानाध्यक्ष रणवीर कुमार के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया एवं गुप्त सूचना पर विसीकला से 28 दिसंबर 2023 की तिथि को गिरफ्तार कर लिया गया है, इसके साथ ही जिस बोलेरो वाहन का उपयोग करते हुए शव को केवा नहर तक लाया गया था, उस बोलेरो वाहन को भी जब्त कर लिया गया है।

हत्या का कारण बना लड़का लड़की का नजदीकी रिश्तेदार होना

सूत्रों की माने तो डब्लू पासवान और चंदा कुमारी के बीच काफी नजदीक रिश्तेदारी थी, चंदा रिश्ते में बहन लगती थी दोनों के बीच प्रेम प्रसंग था, जिससे घर वालें काफी नाराज थे, दोनों भाग कर कैमूर पहुंचे और शादी कर लिए और अधौरा में अपना जीवन यापन कर रहे थे, इस दौरान एक बच्ची का भी जन्म हुआ, पारिवारिक विवाद और लगातार ताने सुनने को लेकर दोनों पति-पत्नी के बीच विवाद उत्पन्न हुआ।

जिसमें डब्लू पासवान के द्वारा चंदा का गला दबाकर हत्या कर दिया गया जिसके बाद अपने परिजन और वाहन चालक के सहयोग से शव को लाकर केवा नहर में फेंक दिया गया था, अनुसंधान के दौरान मामले का पर्दाफाश हुआ जिसके बाद पति एवं ससुर की गिरफ्तारी हुई थी, बोलेरो चालक विकास कुमार यादव और डब्लू पासवान का भाई पुर्णवासी पासवान फरार चल रहा था, जिन्हें गिरफ्तार किया गया है, मेडिकल जांच के बाद सभी को भभुआ न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments