Homeभागलपुरनौकरानी की लालच में पत्नी ने कराई अपने पति की दूसरी शादी

नौकरानी की लालच में पत्नी ने कराई अपने पति की दूसरी शादी

Bihar: भागलपुर,  एक पत्नी ने नौकरानी की लालच में अपने ही पति की दूसरी शादी करा दी। दरसल यह पूरा मामला जगदीशपुर थाना क्षेत्र के सैनो गांव का है। शादी के चार दिन बाद से ही पति ने दूसरी पत्नी के साथ मारपीट करना शुरू कर दिया। जब पहली पत्नी के साथ पति को पीड़िता ने देखा तो पूछा तो पति के द्वारा बताया गया की यह मेरी पत्नी है। जिसके बाद पूरे मामले का खुलासा हुआ। शादी के 20 दिन बाद दूसरी पत्नी वापस दिल्ली से भागलपुर पहुंची और उन्होंने मंगलवार को महिला थाना में लिखित शिकायत कर पति के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। पीड़िता का कहना है कि मेरे से धोखेबाजी से शादी किया गया।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

NS News

मेरे पिता रिक्शा चला कर घर का भरण पोषण करते है। गरीब घर की लड़की को देख उन्होंने हमसे शादी की। दिल्ली जाने के बाद उन्होंने कहा कि मैंने नौकरानी के लिए तुमसे शादी किया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार जगदीशपुर थाना क्षेत्र के सेनो गांव निवासी संजय रविदास की पुत्री काजल कुमारी से हिंदू रीति रिवाज के साथ मुंगेर के खड़गपुर थाना क्षेत्र के रतनी निवासी हीरालाल दास से 2 मई को शादी हुई थी। 4 मई को काजल और हीरालाल दास दिल्ली के लिए रवाना हुए। 5 मई को वह दिल्ली पहुंचे। एक-दो दिन तक तो ठीक रहा। उसके बाद पहली पत्नी संगीता देवी के साथ हीरालाल दास उठना- बैठना करने लगा। जब दूसरी पत्नी काजल ने उनसे पूछी तो हीरालाल ने कहा कि यह मेरी पत्नी है। तुम इसकी सौतन हो। तुमसे नौकरानी के लिए हमने शादी किया है। रहना है तो रहो नहीं तो चली जाओ।

जिसके बाद काजल के द्वारा विरोध किया जाने लगा तब काजल के साथ मारपीट और गाली गलौज कर वहां से भगा दिया। जिसके बाद काजल दिल्ली से भागलपुर पहुंची और उन्होंने यहां पर महिला थाने में लिखित शिकायत कर आरोपी पति के खिलाफ कार्रवाई की मांग किया है। पीड़िता काजल ने बताया कि शादी के बाद वह मुझे दिल्ली लेकर गए। जहां पर उनकी पहली पत्नी थी। एक प्राइवेट बैंक में मैनेजर के पद पर कार्यरत है। मेरी सौतन संगीता का कहना था कि पति से शादी तुमसे हमने इसलिए करवाया है कि तुम यहां पर नौकरानी बनकर रहो। वरना यहां से चली जाओ। विरोध करोगी तो यही मार देंगे। फिलहाल मामले को लेकर पुलिस से शिकायत की है।

 

 

 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments