Homeचैनपुरदूसरे की जमीन दिखा 21 लाख ठगी मामले में दो भाइयों के...

दूसरे की जमीन दिखा 21 लाख ठगी मामले में दो भाइयों के विरुद्ध FIR

Bihar: कैमूर जिले के चैनपुर थाना क्षेत्र के ग्राम करजी के निवासी एक व्यक्ति से दो भाइयों के द्वारा दूसरे की जमीन को दिखाते हुए 21 लाख रुपए ठगी कर लेने का मामला सामने आया है, मामले को लेकर चैनपुर थाने में पीड़ित व्यक्ति के द्वारा आवेदन देकर शिकायत की गई है।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

NS News

आवेदन में ग्राम करजी के निवासी मनीष कुमार जायसवाल पिता स्वर्गीय सोमनाथ जायसवाल ने बताया गया है, उन्हें मकान बनाने के लिए जमीन की आवश्यकता थी जमीन की खोजबीन कर रहे थे तभी सिरसी गांव के रहने वाले राकेश कुमार सिंह एवं मुकेश कुमार सिंह दोनों के पिता ललिता सिंह आए और बताएं कि दोनों जमीन की खरीद बिक्री करते हैं सरैया मौजा में जमीन बिक्री की है आवश्यकता है तो चल कर देख लीजिए।

जिस पर मनीष कुमार जायसवाल अपने पत्नी रीना देवी के साथ स्थल पर पहुंचकर जमीन देखें जिसकी चौड़ाई 10 फीट लंबाई 70 फीट दिखाते हुए बताया गया की इस प्लौट में अन्य लोगों को भी जमीन बेची गई है जमीन की कीमत 26 लाख रुपए तय हुई, इसके बाद कई किस्तों में कुल 21 लाख रुपए दिए गए, जब शेष बची हुई राशि लेकर मनीष जायसवाल दोनों भाइयों के पास पहुंचे और कहे की जमीन की रजिस्ट्री कर दीजिए तो जमीन रजिस्ट्री के नाम पर टालमटोल किया जाने लगा, कई दिनों के टालमटोल के बाद कहा गया 60 हजार रुपए का चालान जमा करवाइए रजिस्ट्री के लिए और 60 रुपए ले लिए, और कहा गया कि आप लोग भभुआ निबंधन कार्यालय में आ जाइएगा उसी दिन जमीन रजिस्ट्री हो जाएगी, मगर दोनों भाई जमीन रजिस्ट्री के लिए भभुआ निबंधन कार्यालय में नहीं पहुंचे।

काफी प्रयास के बाद भी जमीन रजिस्ट्री नहीं हो सकी तो, मनीष जायसवाल के द्वारा जमीन की छानबीन की जाने लगी तो मालूम चला कि वह जमीन किसी और के नाम पर है, तब मनीष जायसवाल के द्वारा राकेश कुमार सिंह एवं मुकेश कुमार सिंह से पैसा वापस मांगा गया, पैसा वापस लेने के लिए काफी दबाव बनाया गया तो 21 लाख रुपए लौटाने के लिए अलग-अलग तिथियां में चेक दिए गए, जब चेक भुगतान के लिए चेक बैंक में जमा हुआ तो खाते में पर्याप्त राशि नहीं थी, जिस कारण भुगतान नहीं हो सका इसके बाद मामले को लेकर थाने में आवेदन देते हुए मनीष कुमार जायसवाल के द्वारा जालसाजी कर पैसा हड़पने की बात कहते हुए शिकायत की गई है।
वहीं इस संबंध जानकारी लेने पर चैनपुर थानाध्यक्ष विजय प्रसाद ने बताया धोखाघड़ी जालसाजी के मामले में प्राप्त आवेदन पर प्राथमिकी दर्ज करते हुए मामले में कार्रवाई की जा रही है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments