Homeपटनाजेडीयू प्रमुख के भाजपा के साथ गठबंधन में लौटने की संभावना प्रबल

जेडीयू प्रमुख के भाजपा के साथ गठबंधन में लौटने की संभावना प्रबल

Bihar: पटना, बिहार के सीएम नीतीश कुमार और विपक्षी गठबंधन इंडिया के दलों में गहराती दरार के संकेतों के बीच जेडीयू प्रमुख के भाजपा के साथ गठबंधन में पुनः लौटने की संभावना प्रबल हो गई है। बिहार के सियासी घटनाक्रम को लेकर गृहमंत्री अमित शाह के आवास पर बिहार बीजेपी और पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की बैठक हो रही है। इस बीच भाजपा विधायक ज्ञानेंद्र श्री ज्ञानू ने दावा करते हुए कहा कि नीतीश कुमार 2 से 3 दिन में बीजेपी के साथ आ जाएंगे।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

NS News

 

ज्ञानेंद्र सिंह के द्वारा कहा गया कि यह बातें कोई नई नहीं है बहुत पहले से बात चल रही थी जब से राजद नेता जदयू को तोड़कर सरकार बनाने की कोशिश कर रहे थे। तभी से नीतीश ने बीजेपी में आने का मन बना लिया था। नीतीश की विचारधारा बीजेपी से मेल खाती है। बीजेपी-जेडीयू का नेचुरल गठबंधन था। अब तो बातचीत बहुत एडवांस स्टेज में पहुंच गई है। अगर नीतीश बीजेपी के साथ आ जाते हैं तो आगामी लोकसभा चुनाव में हम लोग बिहार में 40 की 40 सीटें जीतेंगे। पीएम मोदी और नीतीश कुमार एकदूसरे को पसंद करते हैं।

जेडीयू और आरजेडी के बीच मनमुटाव की अटकलें कई दिनों से चल रही थीं। बुधवार को राजनीति में परिवारवाद को बढ़ावा देने वाली पार्टियों पर नीतीश कुमार ने कटाक्ष किया था। माना जाता है कि उन्होंने अपरोक्ष रूप से लालू प्रसाद यादव पर निशाना साधा था। गुरुवार को सुबह से ही बिहार में सियासी घटनाक्रम तेजी से बदलने लगा। आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद की बेटी रोहिणी आचार्य ने ‘एक्स’ पर पोस्ट में ‘हवा की दिशा बदलने के साथ अपनी विचारधारा बदलने’ के लिए  नितीश कुमार पर तंज कसा था। फिर दोपहर को बिहार कैबिनेट की बैठक महज 15 मिनट में खत्म हो गई। बैठक में नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव के बीच दूरियां दिखी थीं। तभी से बिहार में सियासत कभी गर्म  है।

 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments