Homeकैमूरजिलाधिकारी के आश्वासन के बाद अनिश्चितकालीन धरना को किया गया स्थगित

जिलाधिकारी के आश्वासन के बाद अनिश्चितकालीन धरना को किया गया स्थगित

Bihar: कैमूर जिले में पिछले 76 दिन से एक्सप्रेस-वे निर्माण के लिए अधिकृत पीएनसी इंफ्राटेक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के बेस कैंप स्थल मसोई में चल रहा अनिश्चितकालीन धरना को जिलाधिकारी के आश्वासन के बाद स्थगित कर दिया गया। धरना समाप्त करने के बाद किसानों के द्वारा लोकसभा चुनाव में मतदान बहिष्कार करने का बहुत बड़ा निर्णय ले लिया गया है। भारत माला परियोजना वाराणसी कोलकाता एक्सप्रेस-वे एवं एन एच 219 बाईपास एवं चौरी करण में अधिग्रहण की गई भूमि का उचित मुआवजा को लेकर पिछले 76 दिन से अनिश्चितकालीन धरना दे रहे किसानों ने लोकसभा चुनाव को देखते हुए जिलाधिकारी के आश्वासन पर धरना स्थगित करने का फैसला लिया है।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

NS News

रविवार के दोपहर करीब 1:00 बजे धरना स्थल कैम्प मसोई में पंहुच जिलाधिकारी सावन कुमार ने कहा लोकसभा चुनाव की घोषणा होने के बाद आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू हो गई है। उन्होंने ने किसानों से कहा लोकसभा चुनाव होने तक अनिश्चितकालीन धरना स्थगित कर दिया जाय। किसानों ने जिलाधिकारी से कहा लोकसभा चुनाव होने तक पीएनसी इंफ्राटेक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी एवं एनएचएआई के द्वारा सड़क निर्माण संबंधित कोई कार्य नहीं किया जाए। किसानों को आश्वासन देते हुए जिलाधिकारी ने कहा भूमि अधिग्रहण में उचित मुआवजा दिलाने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है। किसानों को उचित मुआवजा मिलने के बाद सड़क निर्माण शुरू किया जाएगा। आपकी भूमि अधिग्रहण में उचित मुआवजा की मांग जायज है।

अनिश्चितकालीन धरना में किसानों की मांग रखते हुए पशुपति नाथ सिंह महासचिव किसान संघर्ष मोर्चा कैमूर ने कहा आपके आश्वासन के बाद किसान अनिश्चितकालीन धरना स्थगित कर रहे हैं। नेताओं एवं राजनीतिक दलों के द्वारा किसान आंदोलन की उपेक्षा पुर्ण रैवया से दुखी होकर एवं भूमि अधिग्रहण में कम मुआवजा देने को लेकर किसान लोकसभा चुनाव में मतदान का बहिष्कार करेंगे। सचिव अनिल सिंह ने कहा चुनावी समय में कंपनी के द्वारा सड़क निर्माण संबंधित किसी तरह का काम करना शुरू करेगा किसान अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन पुनः शुरू कर देगा। अनिश्चितकालीन धरना स्थगित होने के बाद किसान संघर्ष मोर्चा कैमूर एवं भारतीय किसान यूनियन कैमूर के द्वारा गांवों में जनसंपर्क अभियान चलाकर मतदान बहिष्कार करने के लिए किसानों को जागरूक करेगा।

अनिश्चितकालीन धरना में अध्यक्ष भारतीय किसान यूनियन कैमूर ने कहा किसान कानून का पालन करने वाले हैं। किसानों का आंदोलन लोकतांत्रिक व्यवस्था एवं संवैधानिक अधिकार के तहत हो रहा है। किसानों की रोजी रोटी छिनी जा रही है,  किसानों को उचित मुआवजा नहीं देने से दुखी होकर किसान आगामी लोकसभा चुनाव में मतदान बहिष्कार करने का फैसला लिया है। अनिश्चितकालीन धरना में जिलाधिकारी के साथ अनुमण्डल पदाधिकारी विजय कुमार, भूमि सुधार उप समाहर्ता भभुआ अनुपम कुमार आदि अधिकारी एवं श्याम नारायण सिंह, अमित कुमार रंजन, विकी सिंह, अभय सिंह अवधेश सिंह, लाला सिंह, श्याम सुन्दर सिंह, राजु सिंह, संजय जायसवाल ,भुपेंद्र सिंह आदि कई गांवों से सैकड़ों किसान उपस्थित थे।

76 दिन चले अनिश्चितकालीन धरना में किसी विधायक मंत्री अधिकारियों ने किसानों से वार्ता करने जरूरी नहीं समझा। किसानों ने लोकसभा चुनाव को देखते हुए अनिश्चितकालीन धरना स्थगित करते हुए लोकसभा चुनाव में मतदान का बहिष्कार करने का फैसला किया है। मतदान बहिष्कार को सफल बनाने के लिए किसान गांव में होली बाद जन सम्पर्क अभियान चलाएंगे।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments