Homeपटनाजाति आधारित गणना के बाद दबाव में दिया जननायक को भारत रत्न,...

जाति आधारित गणना के बाद दबाव में दिया जननायक को भारत रत्न, तेजस्वी यादव

Bihar: पटना, अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के महज 24 घंटे के बाद केंद्र सरकार नरेंद्र मोदी जी ने मास्टर स्ट्रोक लगाते हुए कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न देने का ऐलान किया। केंद्र सरकार की घोषणा के बाद राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद ने अपने इंटरनेट मीडिया अकाउंट एक्स पर लिखा कि मेरे राजनीतिक और वैचारिक गुरु कर्पूरी ठाकुर जी को भारत रत्न अब से बहुत पहले मिलना चाहिए था।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

NS News

हमने सदन से लेकर सड़क तक ये आवाज़ उठायी लेकिन केंद्र सरकार तब जागी जब सामाजिक सरोकार की मौजूदा बिहार सरकार ने जातिगत जनगणना करवाई और आरक्षण का दायरा बहुजन हितार्थ बढ़ाया। राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद ने करीब-करीब यह साफ करने की कोशिश की है की बिहार की मौजूदा नीतीश-तेजस्वी की सरकार ने जातिगत जनगणना करवाई और आरक्षण का दायरा बहुजन समाज की हित मे बढ़ाया जिसके बाद केंद्र सरकार ने बहुजन समाज के डर की वजह से यह निर्णय लिया है।

साथ ही राजद के वरिष्ठ नेता लालू प्रसाद के छोटे पुत्र व बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने सुबह-सुबह एक वीडियो जारी कर कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न दिए जाने का स्वागत करते कहा कि आज हमारे जीवन की सबसे बड़ी साध पूरी हुई है। शोषित वंचित उत्पीड़ित वर्ग के सबसे बड़े पैरोकार बिहार के महान समाजवादी नेता और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न दिलाने की मांग दशकों पुरानी है। लगातार हमारा दल हमारे पिता राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी एवं अन्य कई वरिष्ठ नेता और मैं स्वयं की मांग करता रहा हूं, और जिस हिसाब से महागठबंधन की सरकार ने जाति आधारित गणना कराकर उसी अनुपात में आरक्षण का दायरा 75 प्रतिशत बढ़ाया है, दिया है इसी के दबाव में आज इस मांग को पूरा करना पड़ रहा है।

 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments