Homeपटनाजन सुराज के सूत्रधार प्रशांत किशोर ने केंद्र सरकार पर जमकर साधा...

जन सुराज के सूत्रधार प्रशांत किशोर ने केंद्र सरकार पर जमकर साधा निशान

Bihar:  पटना, अयोध्या में राम मंदिर के होने वाली उद्घाटन कार्यक्रम की चर्चा जोरो से हो रही है। वहीं सपा, कांग्रेस आरजेडी और जदयू के नेता राम मंदिर के उद्घाटन की तैयारी को लोकसभा चुनाव 2024 के लिए भाजपा द्वारा एक चुनावी मुद्दा बनाने का आरोप लगा रहे है। इसी बीच जन सुराज के सूत्रधार प्रशांत किशोर ने कहा की राम मंदिर का उद्घाटन लोकसभा चुनाव में बहुत बड़ा मुद्दा नहीं है। चुनाव की जितनी समझ हमको है उस हिसाब से कोई एक मुद्दा जिसे अपने एक बार कढ़ाई चढ़कर गुड बना लिया है। उसे वापस से एक बार चढ़ा कर समाज को इस हिसाब से आंदोलन नहीं किया जा सकता है।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

NS News

राम मंदिर के मुद्दे पर एक बार लालकृष्ण आडवाणी सोमनाथ से चले तब एक बार उस मुद्दे पर वोट पड़ा। राम मंदिर एक बड़ा मुद्दा है लोगों के कॉन्शस माइंड में है, चर्चा में है तो इसका खूब प्रचार भी होगा, लेकिन वोट इस पर नहीं पड़ेगा। प्रशांत किशोर ने बीजेपी के संसदीय दल की हाल में ही हुई बैठक का उदाहरण देते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी ने जब अपने सांसदों से मुलाकात की तो उन्होंने भी कहा कि खाली राम मंदिर के नाम पर चुनाव नहीं जीता जा सकता है। क्योंकि एक बार देश में मंडल कमीशन आया तो बहुत आंदोलन हुआ लेकिन जब 5 साल के बाद मंडल कमीशन लागू किया गया तो देश में किसी को भी पता नहीं चला। समाज की ​इतनी समझ तो रखनी चाहिए कि काठ की हांडी या कच्ची हांडी को बार-बार नहीं चला सकते हैं।

साथ ही प्रशांत किशोर ने दरभंगा शहर में जन संवाद के दौरान अन्ना हजारे के लोकपाल आंदोलन का जिक्र करते हुए कहा कि एक बार अन्ना हजारे ने लोकपाल के नाम पर आंदोलन किया, लेकिन क्या फिर से लोकपाल के नाम पर आंदोलन हो सकता है? उस समय पूरा देश जनलोकपाल के नाम पर अन्ना हजारे के साथ खड़ा हुआ। आज अगर एक बार फिर से अन्ना आ जाएं और जनलोकपाल को लेकर बैठ जाएं, तो भी कोई नोटिस नहीं करेगा। राम मंदिर का उद्घाटन बहुत बड़ी घटना है, उसकी चर्चा होगी, बीजेपी उसका प्रचार-प्रसार खूब करेगी, उसका लाभ लेने की कोशिश भी करेगी, लेकिन राम मंदिर की वजह से वोट बहुत ज्यादा प्रभावित नहीं होगा। दूसरी वजहों से लोग बीजेपी को वोट भले दे दें, वो अलग बात है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments