Homeनवादाजदयू नेता व महादलित मुखिया पर अंधाधुंध फायरिंग, मुखिया के भाई को...

जदयू नेता व महादलित मुखिया पर अंधाधुंध फायरिंग, मुखिया के भाई को लगी गोली

Bihar: नवादा जिले में बेखौफ बदमाशों के द्वारा XUV कार पर सवार नारदीगंज पंचायत के महादलित मुखिया व जदयू नेता रणविजय पासवान पर अंधाधुंध फायरिंग किया गया। जिसके बाद घटना स्थल पर अफरातफरी का माहौल उत्पन्न हो गया। इस गोलीबारी में मुखिया के XUV वाहन पर सवार उनके ममेरे भाई राजबली पासवान के बांह में गोली लगी है। वहीं हमलावरों ने मुखिया के वाहन को भी पूरी तरह से क्षतिग्रस्त कर दिया है।  इस घटना में मुखिया बाल -बाल बचे। दरसल यह घटना जिले के नारदीगंज थाना क्षेत्र के दललपुर गांव स्तिथ ईट भट्टा के पास घटित हुई है। गोलीबारी में घायल राजबली पासवान को स्थानीय लोगों के सहयोग से आनन -फानन में सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उन्हें चिकत्सक ने पावापुरी बीम्स रेफर कर दिया है। गोलीबारी में घायल राजबली पासवान बिहारशरीफ के नई सराय के बताए जाते है।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

NS News

घटना के सम्बन्ध में जानकारी देते हुए पीड़ित नारदीगंज पंचायत के मुखिया रणविजय पासवान ने बताया की रात 11:00 बजे अपने ममेरे भाई के साथ अपनी XUV कार से घर गांव की ओर लौट रहे थे, तभी थाना क्षेत्र के दललपुर गांव में स्तिथ दललपुर ईट भट्टा के पास 4 की संख्या में रहे बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग कर दिया। पीड़ित मुखिया ने नारदीगंज थाना क्षेत्र के पड़पा गांव के निवासी मुकेश सिंह, टून टून सिंह ,अरविंद सिंह और विक्की सिंह पर फायरिंग करने का आरोप लगाया है पुरानी रंजिश को लेकर वाहन पर सवार मुखिया पर अंधाधुंध फायरिंग की गई है। हालांकि इस गोलीबारी में नारदीगंज पंचायत के मुखिया रणविजय पासवान बाल -बाल बच गए है। मुखिया ने कहा इस गोलीबारी में उनका ममेरा भाई राजवली पासवान घायल हो गए है, जिनका इलाज चिकित्सक द्वारा जारी है।

फिलहाल घटना की सूचना पर नारदीगंज थाना की पुलिस घटना स्थल पर पहुंच कर जांच पड़ताल में जुटी है। आपको  बता दे की 13 जून की देर रात जिले के पकरीवराबा प्रखंड के बुधौली पंचायत के भी महादलित मुखिया पप्पू मांझी के सिर में गोली मारकर बेखौफ बदमाशों ने मुखिया को मौत के घाट उतार दिया था। जिसका उद्भेदन नवादा पुलिस ने कर दिया है। नवादा में एक सप्ताह के अंदर दो महादलित मुखिया पर गोली फायरिंग पर नवादा के महादलित नेताओं ने गहरा दुख व्यक्त किया है। भीम आर्मी के पूर्व जिलाध्यक्ष कमलेश राणा एवं चंदन चौधरी ने कहा महादलित क़ो मुखिया होना गुनाह है क्या ? आखिर क्यों एक सप्ताह के अंदर नवादा में दो मुखिया पर फायरिंग हुई। एक मुखिया पप्पू मांझी की हत्या हो गयी ,दूसरा मुखिया बाल -बाल बच गए ,उनके ममेरे भाई जख्मी हुए। उन्होंने उच्च अधिकारियों से घटना की जांच कर उचित कार्रवाई करते हुए सुरक्षा का मांग किया है।

 

 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments