Homeरामपुरचोरों ने दिनदहाड़े 13 वर्षीय बच्चे का किया अपहरण

चोरों ने दिनदहाड़े 13 वर्षीय बच्चे का किया अपहरण

Bihar: रामपुर स्थानीय प्रखंड के बेलाव थाना क्षेत्र अंतर्गत उचीनर गांव में गुरुवार को दिनदहाड़े चोरों के द्वारा रिश्तेदारी में आए एक 13 वर्षीय बच्चे का अपहरण कर ले जाया जा रहा था। बच्चा चोरी कर भागने वाले अपहरणकर्ताओं को ग्रामीणों ने जब खदेड़ा तो बड़वा पहाड़ के रास्ते बच्चा छोड़ अपहरणकर्ता भाग निकले। अपहरणकर्ताओं की संख्या 3 थी। इसके बाद ग्रामीणों ने पहाड़ पर पहुच बच्चों को हाथ पैर खोल पहाड़ से नीचे लाया। जहा से बेलाव थाना की पुलिस ने बच्चा समेत बच्चे के परिजन को लेकर सरकारी अस्पताल पहुंचे। जंहा बच्चे का इलाज कराया गया।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

NS News

अपहरण बच्चा जिले के सोनहन थाना क्षेत्र अंतर्गत हरला गांव के राजेन्द्र राम के पुत्र सुमित कुमार बताया जाता हैं। सुमित अपने चाचा सतेंद्र राम के साथ अपने बुआ के घर उचीनर आया हुआ था। ग्रामीणों का कहना है कि पहले चोर घरों में चोरी करते थे, इसके बाद किसानों के पशुओ की चोरी करना शुरू कर दिया अब चोरों ने बच्चों को अपहरण करने शुरू कर दिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार गायब बच्चे ने बताया कि मैं अपने चाचा सतेंद्र राम के साथ नेवता पर उचीनर आया हुआ था। इसके बाद हमलोग पानी पीने लगे। इस बीच मैं अपने चाचा के मोबाइल लेकर घर से बाहर होकर मौसी से बात करने लगा। तभी दो लबे-लबे लोग अपना मुंह बंद कर सामने से आए व एक पीछे से आए मेरे चेहरा पर कपड़ा डालते हुए मुझे टांगकर लेकर भागने लगे। मेरा मुह आंख हाथ पैर भी बांध लिया था।

इस बीच में एक दवा का गोली भी खिलाया। उन्होंने हाथ मे एक छोटा हथियार भी लिया था। इसके बाद मूझे पहाड़ पर लेकर चले गए। तभी मेरे चाचा ने फोन किया तो मैं पूरे घटना के बारे फोन के माध्यम से ही बताया। इसके बाद उचीनर गांव के लगभग दर्जनों ग्रामीण बोतल में पानी लेकर पहाड़ पर खोजना शुरू कर दिया। फिर बच्चे को लेकर पहाड़ से नीचे उतरे इसके बाद ग्रामीणों ने बच्चों को पुलिस को शौप दिया। वही उचीनर गांव निवासी अवधेश राम ने बताया कि मैं पहाड़ी के टीले पर चढ़ कर देखा तो दो लोग उक्त बच्चे का एक ब्यक्ति हाथ पकड़ा हुआ था दूसरा गर्दन पकड़कर टांगकर ले जा रहा था। वही तीसरा ब्यक्ति पीछे से आगे पीछे देख रहा था। जब मैंने हो हल्ला शुरू किया और चीला चीला कर ग्रामीणों को बताया कि लोग पूर्व की तरफ ले जा रहे है। इसके बाद ग्रामीण उस दिशा के तरफ दौड़ना शुरू किया तो तीनों ब्यक्ति बच्चा को छोड़कर पहाड़ी के पश्चिम दिशा के तरफ भागने लगे।

हरला गांव निवासी सतेंद्र कुमार (चाचा) ने बताया कि हमलोग उचीनर आये हुए थे। पानी पी रहे थे तभी मेरा भतीजा मेरा ही फोन लेकर बात करते हुए घर से बाहर निकला कुछ देर बीत जाने के बाद कुछ पता नही चला तो मैं अपने मामा के मोबाइल से फोन किया तो वह रो रो कर कह रहा था कि चाचा मेरा जान बचाव लोग मुझे मार डालेंगे। इस संबंध में सीएचसी में तैनात डॉ चंदन कुमार ने बताया कि बच्चा आया था। जो बेहोशी के हालत में था। उसका प्रारंभिक उपचार कर होश में लाया गया है। उक्त बच्चे के शरीर पर कई जगहों पर जख्म के निशान है। इस संबंध में एसआई अमितेज कुमार ने बताया कि बच्चों को लाकर पूछताछ किया जा रहा है। अभी तक परिजनों द्वारा कोई आवेदन नही दिया गया है। हालांकि पुलिस इसकी गहनता से जांच पड़ताल कर रही है।

 

 

 

 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments