Homeऔरंगाबादऔरंगाबाद में ट्रेन से गिरकर एसएफसी के एजीएम की मौत

औरंगाबाद में ट्रेन से गिरकर एसएफसी के एजीएम की मौत

Bihar: औरंगाबाद में जाखिम के पास शुक्रवार की रात राज्य खाद्य निगम (एसएफसी) के सहायक गोदाम प्रबंधक (एजीएम) मदन मोहन चौधरी की मौत ट्रेन से गिरने से हो गई, बताया जा रहा है वो गया में पदस्थापित थे, वह वाराणसी से गंगा सतलज एक्सप्रेस पर सवार होकर अपने माता-पिता के पास धनबाद जा रहे थे, हालांकि परिजन उनके हत्या की आशंका जता रहे हैं।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

जाखिम स्टेशन

गया-पंडित दीनदयाल उपाध्याय रेलखंड के जाखिम स्टेशन के पास ट्रेन रात करीब 2.30 बजे पहुंची थी, शनिवार की सुबह जाखिम से पश्चिम स्थित अनत बिगहा गांव के ग्रामीण रेल लाइन की तरफ गए तो शव देखा, जाखिम स्टेशन के प्रबंधक एवं आरपीएफ रफीगंज के पोस्ट निरीक्षक बीके सिंह को सूचना दी, मालगाड़ी के चालक ने स्टेशन को रेलवे लाइन पर शव होने की सूचना दी, सूचना पर पहुंची रेल पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल औरंगाबाद भेज दिया।

पहले तो अज्ञात शव बताया गया फिर पहचान होने के बाद स्वजनों को जानकारी दी गयी, सूचना पर स्वजन शनिवार शाम औरंगाबाद पहुंचे और पोस्टमार्टम के बाद शव लेकर घर चले गए, स्वजनों ने बताया कि एजीएम वाराणसी के लंका थाना क्षेत्र के शारदा अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर-403 सुसुवाही में अपनी पत्नी और दो पुत्रों के साथ रहते थे, स्वजनों ने कहा कि किस परिस्थिति में रात्रि को एसी बोगी से नीचे गिरे हैं यह जांच के बाद पता चलेगा, स्वजनों ने ट्रेन से धक्का देकर नीचे गिराकर हत्या करने की आशंका जताया है।

सोन नगर रेल थानाध्यक्ष अश्विनी कुमार सुमन ने बताया कि घटना की जांच चल रही है, स्वजनों के द्वारा मामले में जो लिखित आवेदन दिया जाएगा उसके बाद मामले में जांच की जाएगी, प्रथम दृष्टया मौत ट्रेन से गिरने के कारण हुई है, उधर घटना के बाद से स्वजन रो रहे थे, बताया गया कि एजीएम वर्ष 2017 से 2021 तक औरंगाबाद के नबीनगर और बारुण में सहायक गोदाम प्रबंधक के पद पर कार्यरत रहे थे।

बताया जा रहा कि ट्रेन शनिवार को जब धनबाद पहुंची तो पहले से एजीएम को लेने उनके भाई सन्नी कुमार स्टेशन पर पहुंचे थे, हालांकि सन्नी अपने भाई के मोबाइल नंबर पर लगातार संपर्क करने का प्रयास कर रहे थे पर नहीं हो पा रहा था, जवाब नहीं मिलने से परेशान थे, जिस बोगी में यात्रा करने की जानकारी भाई ने दी थी उस बोगी के पास पहुंचे तो भाई को नहीं पाया, सीट पर बैग और मोबाइल को पाया इसकी सूचना यात्री के सहकर्मी को दिया गया तब खोजबीन होने लगी, इसी बीच जाखिम में शव मिलने की सूचना मिली।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments